गोमती रिवरफ्रंट घोटाला : घोटाले में पूछताछ के लिए ठेकेदार तलब, ईडी ने भेजे नोटिस

कई हजार करोड़ का है घोटाला

ब्यूरो

लखनऊ। सीबीआइ ने नवंबर, 2020 में रूप सिंह यादव व तत्कालीन वरिष्ठ सहायक राजकुमार को लखनऊ से गिरफ्तार किया था। सूत्रों का कहना है कि सीबीआइ ने ठेकों के आवंटन में धांधली को लेकर रूप सिंह यादव के विरुद्ध एक अन्य केस भी दर्ज किया था। इस केस केस के आधार पर रूप सिंह के करीबी ठेकेदारों की भूमिका अब ईडी जांच के दायरे में है।

सीबीआइ लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच ने नवंबर, 2017 में गोमती रिवरफ्रंट घोटाले की एफआइआर दर्ज कर जांच शुरू की थी। इसके उपरांत ईडी ने मार्च, 2018 में केस दर्ज कर इस घोटाले की जांच शुरू की थी। जांच में सामने आया था कि रिवरफ्रंट निर्माण के दौरान सिंचाई विभाग ने 1031 करोड़ रुपये के निर्माण कार्याें से जुड़ी 12 निविदाएं जारी की थीं।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *