यूपी: डेढ़ करोड़ की चरस के साथ सात तस्कर दबोचे गए

कानपुर

कानपुर देहात में एसटीएफ ने सोमवार को 30 किलो चरस के साथ तीन महिलाओं समेत सात तस्करों को गिरफ्तार किया। इसमें चार बिहार प्रांत के रहने वाले हैं। इनके पास से बरामद हुई चरस की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार मूल्य के अनुसार करीब डेढ़ करोड़ रुपये है।नेपाल से चरस लाकर जिले में स्टाक करने के बाद मांग के अनुसार आसपास के जनपदों में खपाई जाती थी। एसटीएफ टीम को इसकी भनक लग गई थी। सोमवार को टीम ने सिकंदरा के सूर्या होटल के पास तस्कर गिरोह के सात लोगों को पकड़ लिया।उनके पास से एक हजार रुपये नेपाली मुद्राएं मिली हैं। नेपाल से चरस तस्करी की जानकारी पर सीओ एसटीएफ कानपुर तेजबहादुर सिंह टीम के साथ लगे थे। सोमवार को उन्हें सूचना मिली कि तस्कर सिकंदरा के सूर्या ढाबा के पास पहुंच चुके हैं।

इस पर टीम ने वहां पहुंच कर कानपुर के बराजपुर शिवराजपुर निवासी सुरेंद्र चंद्र, रमेशपुर चौबेपुर की सुशीला, बलरामपुर मंगलपुर कानपुर देहात के जितेंद्र सिंह के अलावा बिहार प्रांत के इनरवा रमघड़वा मोतिहारी के खुर्शीद सिद्दीकी, गुड़िया खातून, सोनी खातून, चंपारण जिले के छतौनी जिलाह पूर्वी के सलीम अंसारी को गिरफ्तार कर लिया।इनके पास से 30 किलो चरस, 4950 रुपये, एक हजार नेपाली मुद्राएं, पांच मोबाइल, दो बाइक, मोतिहारी से दिल्ली का एक टिकट मिला है। सीओ एसटीएफ कानपुर तेजबहादुर सिंह ने बताया कि इन लोगों ने नेपाल से चरस तस्करी कर  बिहार की सीमा में स्टाक करने की जानकारी दी है।

गिरोह के सरगना कानपुर देहात के जितेंद्र सिंह की मांग पर चरस की खेप पहुंचाते थे। वह चरस की खेप को कानपुर नगर, औरैया, इटावा, हमीरपुर, जालौन आसपास के सभी जनपदों में जितेंद्र अपने गुर्गों के माध्यम से खपाता था। जितेंद्र पहले भी मादक पदार्थ तस्करी में पकड़ा जा चुका है। प्रभारी निरीक्षक सिकंदरा रामबहादुर पाल ने बताया कि एसटीएफ के इंस्पेक्टर शैलेंद्र सिंह की तहरीर पर सात लोगों के विरुद्ध मादक पदार्थ तस्करी की रिपोर्ट दर्ज की गई है।

 

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *