बिहार में डूबते सूर्य को अर्घ के बाद उदीयमान सूरज का इंतजार

शनिवार की सुबह उगते सूर्य को अर्घ

पटना

बिहार में छठ महापर्व पर आस्था का अलौकिक नजारा दिख रहा है. राजधानी पटना से लेकर समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, नालंदा, मधुबनी, गया समेत दूसरे स्थानों पर शुक्रवार की शाम डूबते सूर्य को अर्घ देने वालों का जनसैलाब उमड़ पड़ा. कोरोना काल में हो रही छठ पूजा को लेकर एहतियात के तमाम उपाय अपनाए गए हैं. दूसरी तरफ लोगों के लिए खास गाइडलाइंस भी जारी की गई है.छठ किसी बंधन को नहीं मानता है. यही कारण है आम से लेकर खास तक इस पर्व पर एक हो जाते हैं. बिहार की राजधानी पटना में छठ महापर्व पर सीएम नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री आवास में डूबते सूर्य को अर्घ दिया.\

इस बार सीएम नीतीश कुमार की भाभी छठ व्रत कर रही हैं.दूसरी तरफ बेतिया में अपने आवास पर डिप्टी सीएम रेणु देवी ने भी डूबते सूर्य की पूजा की. डिप्टी सीएम रेणु देवी छठ व्रत कर रही हैं.पटना में छठ पर गंगा घाट पर आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा. पटना के गांधी घाट, काली घाट, कॉलेज घाट, दीघा घाट पर शुक्रवार की शाम श्रद्धालु डूबते सूर्य को अर्घ देने पहुंचे. इस दौरान घाटों पर बड़ी संख्या में लोग सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज की दूरी) का पालन करते नहीं दिखे. प्रशासन ने पटना में दो दर्जन घाटों को खतरनाक घोषित किया है. कोरोना संकट में बड़ी संख्या में लोग छतों पर छठ पूजा करते भी दिखे.छठ के तीसरे दिन डूबते सूर्य को अर्घ के बाद शनिवार सुबह उगते सूर्य को अर्घ दिया जाएगा. इसके साथ ही चार दिवसीय छठ महापर्व संपन्न होगा. डूबते सूर्य को अर्घ देने के बाद उदीयमान भगवान भास्कर को अर्घ देने का इंतजार किया जा रहा है. उगते सूरज को अर्घ के बाद सभी व्रती पारण करेंगे. इस बार कोरोना संकट में हो रहे छठ पर्व को लेकर गाइडलाइंस भी जारी किए गए हैं. जिसका पालन बेहद जरूरी है.

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *