अब लखनऊ के नए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर

लखनऊ। राजधानी के नए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने मंगलवार देर रात में पदभार ग्रहण कर लिया। यही नहीं उन्होंने रात में ही सभी डीसीपी व जेसीपी कानून व्यवस्था के साथ बैठक भी की। पुलिस आयुक्त ने मातहतों को कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने महिला सुरक्षा को प्राथमिकता देने की बात कही। नए पुलिस कमिश्नर के सामने साइबर अपराध पर नकेल कसना बड़ी चुनौती होगी।

उधर, चर्चा है कि बंथरा में हुई जहरीली शराब कांड के बाद तत्कालीन पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय को हटाया गया है। हालांकि इस बाबत कोई उच्चाधिकारी कुछ भी स्पष्ट नहीं बोल रहा है। एडीजी सुजीत पांडेय लखनऊ के पहले पुलिस आयुक्त बनाए गए थे। करीब 10 माह के कार्यकाल में सुजीत पांडेय के नेतृत्व में लखनऊ पुलिस ने कई उपलब्धियां हासिल की। यही नहीं सुजीत पांडेय के नेतृत्व में पुलिस कमिश्नरेट व्यवस्था शुरू हुई, जो अब सुचारू रूप से चल रही है।

लखनऊ : जहरीली शराब कांड में सुजीत पांडेय को हटाए जाने की चर्चा, 10 माह के कार्यकाल में किया बेहतर काम।
नई व्यवस्था के तहत लखनऊ पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान कई अपराधियों को गिरफ्तार किया। वहीं अपराध की घटनाओं पर भी लगाम लगी। सीएए व एनआरसी के विरोध में चल रहे प्रदर्शन को सुजीत पांडेय ने बातचीत कर समाप्त कराया था। इसके अलावा चोरी की गाड़ियों की बड़ी खेप भी बरामद कराई थी। हालांकि साइबर अपराध पर नकेल कसने में वह सफल नहीं हुए। यही नहीं अज्ञात शवों की शिनाख्त कराने में भी पुलिस फेल साबित हुई।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *