दीवाली पर अखिलेश यादव का बड़ा धमाका -किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं करेंगे

जब से भाजपा की सरकार बनी, इटावा में नहीं हुआ कोई विकास : अखिलेश यादव

सरकार बनी तो शिवपाल बनेंगे कैबिनेट मंत्री

बसपा एवं कांग्रेस के कई नेता समाजवादी पार्टी में हुये शामिल

दिवाली के मौके पर अखिलेश यादव पहुंचे सैफई 

सिविल लाइन इटावा स्थित आवास पर उन्होंने की प्रेस कॉन्फ्रें स

शेखर यादव

इटावा। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव हर बार की तरह इस बार भी सैफई में सपरिवार दीपावली मनाने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने आगामी विधान सभा चुनाव को लेकर एक बड़ा धमाका किया। उन्होंने कहा कि अब बहुत हो चुका, 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में सपा किसी बड़े दल से गठजोड़ नहीं करेगी। इसके बदले छोटे दलों से तालमेल बढ़ायेंगे। अखिलेश यादव ने दीपावली के अवसर पर इटावा में पत्रकारों से बातचीत के दौरान ये घोषणा की।  इस अवसर पर बसपा के तीन पूर्व जिला अध्यक्ष लाखन सिंह, राघवेंद्र गौतम, जितेंद्र दोहरे, बसपा नेता वीरू भदौरिया, कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष कीरत पाल सहित कई नेता अखिलेश यादव के सामने सपा में शामिल हुये। अखिलेश यादव इटावा सिविल लाइन आवास पर आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

अखिलेश पूर्व में हुये उत्तर प्रदेश के चुनावों में पहले कांग्रेस फि र बसपा से गठबंधन का प्रयोग कर चुके हैं। बड़े दलों से गठबंधन के बावजूद चुनावों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इसीलिये अखिलेश अब प्रयोगीधर्मी नहीं बनेंगे। अखिलेश यादव ने साफ किया कि अब यूपी में सपा किसी अन्य बड़े दल से गठबंधन के बजाए छोटे दलों से गठजोड़ करेगी और भाजपा के सामा्रज्य को खत्म कर देंगे। एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने यह भी कहा कि आगामी विधान सभा चुनाव में प्रसपा को भी एडजस्ट करेंगे और अगर सरकार बनी तो चाचा शिवपाल सिंह को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे। जसवंत नगर से विधान सभा की सीट भी छोड़ देंगे। ऐसा लग रहा है कि अखिलेश ने अब चाचा शिवपाल को साथ लाने का मन बना लिया है।

अखिलेश यादव ने हाल ही में आये बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों पर भी प्रतिक्रिया दी। कहा कि लोकतंत्र में इतना धोखा किसी के साथ नहीं हुआ होगा, जितना भाजपा ने वहां के लोगों के साथ किया है। अखिलेश ने एनडीए पर बड़ा आरोप लगाते हुये कहा कि महागठबंधन को बेईमानी से हराया गया है। 2022 में सपा की रणनीति क्या होगी? इस सवाल का जवाब अखिलेश ने कुछ हल्के अंदाज में दिया। कहा कि इसका हम खुलासा नहीं करेंगे अगर पहले खुलासा करेंगे तो भारतीय जनता पार्टी को जानकारी हो जायेगी।

हाल ही में संपन्न हुये विधान सभा उप चुनाव की सात सीटों में से सपा को एक सीट मल्हनी पर जीत मिली है। बाकी सीटों पर हार की वजह पूछी गयी तो अखिलेश बोले, जब चुनाव जिलों के डीएम, एसपी, सीओ और सिपाही लड़ेंगे तो कौन जीतेगा? कहां चुनाव भाजपा नहीं लड़ रही? उनकी सरकार के जितने भी अधिकारी हैं, वे चुनाव लड़ रहे हैं। अखिलेश ने कहा कि इटावा में जो भी विकास हुआ है, सपा ने कराया है। भाजपा का कोई भी विकास यहां दिखायी नहीं देता है। इस दौरान उन्होंने लायन सफ ारी और नवीन जेल का भी जिक्र किया। भाजपा पर तंज कसते हुये उन्होंने कहा विकास भवन में ब्लैक ग्रेनाइट का गेट बनाया है, यही उनका विकास दिखायी दे रहा है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *