डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी ने लगाई फांसी

पति को फोन करके कहा आपकी जिंदगी आपको मुबारक

लखनऊ

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में डीआईजी चंद्र प्रकाश की पत्नी ने शनिवार को आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।  जानकारी मिली है कि सुशांत गोल्फ सिटी इलाके में डीआईजी की 36 वर्षीय पत्नी पुष्पा प्रकाश ने सुबह करीब 11:00 बजे के आसपास फांसी लगा ली। आननफानन कुछ लोगों की मदद से उन्हें लोहिया अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुष्पा प्रकाश ने फांसी लगाकर आत्महत्या क्यों की इसकी वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है, मौके से कोई सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।  आपको बता दें कि डीआईजी उन्नाव में तैनात हैं। इसके अलावा हाथरस जिले के चंदपा कोतवाली इलाके की युवती की सामूहिक दुष्कर्म और मौत मामले की जांच के लिए बनी एसआईटी में चंद्र प्रकाश बतौर सदस्य हैं।


जांच में सामने आया है कि पुष्पा प्रकाश ने खुदकुशी से पहले पति को फोन किया था। उन्होंने कहा आपकी जिंदगी आपको मुबारक हो। उस वक्त डीआईजी अपने घर से ड्यूटी के लिए गोरखपुर के लिए निकल चुके थे। पत्नी का फोन आते ही वह तुरंत लौट आए। घर पर उनके नौकरों के अलावा बच्चे अनन्या (13), कृतिका ( 12 ) और सात साल का दिव्यांश थे। तीनों भूतल के कमरों में थे, जबकि पुष्पा ने प्रथम तल पर स्थित कमरे में फांसी लगाई थी। डीआईजी ने घर पहुंचकर कमरे का दरवाजा तोड़ा तो उन्हें फंदे से लटका पाया। फंदा काटकर उन्हें लोहिया अस्पताल ले जाया गया जहां मृत घोषित कर दिया गया।

करीबी लोगों के मुताबिक वह बहुत जल्द आपा खोने वाली महिला थीं। छोटी सी बात पर भी नाराज हो जाती थीं। पुलिस के मुताबिक उनका पति से किसी बात को लेकर कुछ मनमुटाव हुआ होगा, जिसके चलते खुदकुशी कर ली। उनकी शादी को 16 साल हो गए थे।  दाम्पत्य जीवन खुशहाल था। आज तक कभी ऐसे झगड़े नहीं हुए कि ऐसा घातक कदम उठाना पड़ा हो। पुष्पा मूलरूप से आजमगढ़ की थीं। उनका एक भाई हापुड़ के पिलखुआ में एसडीएम है।

 

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *