श्रृति सिंह ने इटावा की नई डीएम की की कुर्सी संभाली,इटावा वालों को कोरोनो से दिलाऊंगी मुक्ति

प्राथमिकता:
1 कंटेनमेंट एरिया में होगी सख्ती,उपचार पर करेंगे फोकस

2:भू-माफियाओं,राशन की हेरा-फेरी पर रहेगी पैनी निगाहें

3:शहरी व ग्रामीण हॉस्पिटल में सप्लाई होने वाली उपकरणों की करेंगे जांच

इटावा की दूसरी महिला डीएम बनीं श्रृति सिंह

शेखर यादव

इटावा। इटावा में दूसरी महिला डीएम के रुप में श्रृति सिंह ने आज कार्यभार ग्रहण कर लिया है। मीडिया को जवाब देते हुये उन्होंने कहा कि मेरी प्राथमिकता रहेगी कि किस तरह से कोरोना संकट से जूझ रहे इटावा वालों को निजात दिलायें। इसके लिये शहरी और ग्रामीण हॉस्पिटलों में उपकरणों की जांच करायेंगे और जानेंगे कि यहां भर्ती होने वाले मरीजों को सरकार द्वारा दिलायी गयी सारी सहुलियत मिल रही है या नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि कंटेनमेंट एरिया में सख्ती के साथ ही वहां पर किस तरह से उपचार हो रहा है,इस पर भी मेरी पैनी नजर रहेगी। साथ ही किसानों,राशन वितरण और जमीनों पर अवैध कब्जा के सवाल पर भी उन्होंने पूरी बेबाकी के साथ पत्रकारों को जवाब दिया। बता दें कि श्रृति सिंह इससे पूर्व उ.प्र. मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन की मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर तैनात थीं।

मीडिया को जवाब देते हुये उन्होंने कहा कि इटावा जनपद में मैं दूसरी महिला जिलाधिकारी के रुप में कार्यभार संभाल रही हूं। इससे पहले कुमारी जे. सिल्वा इटावा की जिलाधिकारी रही हैं। शासन ने उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन की मैनेजिंग डायरेक्टर के पद पर तैनात थी। रविवार को कोषागार में आकर अपना कार्यभार ग्रहण किया। जिलाधिकारी का कार्यभार ग्रहण करने के बाद कलेक्ट्रेट सभागार में मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत में श्रुति सिंह ने कहा कि यहां आकर उनकी सबसे पहली प्राथमिकता कोविड-19 महामारी के बढ़ते प्रकोप को रोकना है।

कंटेनमेंट एरिया में विशेष देखभाल और उपचार का इंतजाम करानी मेरी प्राथमिकता रहेगी। उन्होंने कहा कि शासन की नीतियों और योजनाओं को जनता तक पहुंचाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। कोविड-19 के बचाव एवं रोकथाम के लिए जिले में की गयी मेडिकल उपकरणों की खरीद के मूल्यों की जांच के बारे में पत्रकार द्वारा सवाल करने पर जिलाधिकारी ने कहा कि कोई शिकायत मिलती है तो उसकी जांच और कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा राशन वितरण हेरा-फेरी, जमीनों पर अवैध कब्जे आदि के प्रश्नों के जवाब में जिलाधिकारी ने जांच कराने का आश्वासन दिया। 2006 बैच की श्रृति सिंह छत्तीसगढ़ कैडर की आईएएस अधिकारी हैं। वहां दो जिलों में उनकी तैनाती रही है। यूपी में वह पहले कृषि विभाग की विशेष सचिव रहीं और उसके बाद उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन लखनऊ में एमडी के पद पर तैनात थीं। उत्तर प्रदेश में उन्होंने पहली बार जिलाधिकारी के रूप में चार्ज संभाला है।

इस अवसर पर सीएमओ डॉ.एन.एस. तोमर,सीडीओ राजा गणपत,एसडीएम,सदर सिद्धार्थ,एसडीएम,भरथना नम्रमा सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थें।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *