ये पांच प्वाइंट्स बन सकते हैं गुज़न सक्सेना देखने की वज़ह

नई दिल्ली। नेटफ्लिक्स पर 12 अगस्त को जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी स्टारर फ़िल्म गुंजन सक्सेना रिलीज़ होने जा रही है। इस फ़िल्म को पहले थिएटर्स में रिलीज़ किया जाना था, लेकिन अब इसे कोरोना काल में सीधे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर रिलीज़ किया जा रहा है। इस फ़िल्म में कुछ ऐसी बातें हैं, जो इस देखने की वज़ह बन सकती है। आइए जानते हैं…

1. जाह्नवी कपूर- जाह्नवी कपूर ने धड़क के साथ अपना डेब्यू किया था। हालांकि, इस फ़िल्म को उस स्तर की सफलता नहीं मिली। इसके बाद वह नेटफ्लिक्स की एंथोलॉजिकल फ़िल्म घोस्ट स्टोरीज़ का हिस्सा बनीं। विजय वर्मा के साथ उनकी जोड़ी को पसंद किया गया। अब सवाल है कि क्या वह ‘गुंजन सक्सेनाः द कारगिल गर्ल’  के साथ प्रभावित कर पाती हैं या नहीं?

2. पंकज त्रिपाठी- इस फ़िल्म में एक्टर पंकज त्रिपाठी, जाह्नवी कपूर के ऑन स्क्रीन पिता का किरदार निभा रहे हैं। गैंग्स ऑफ़ वासेपुर और मिर्ज़ापुर के बाद पंकज त्रिपाठी की भी अपनी एक किस्म फैन फॉलोइंग हो गई है। पंकज त्रिपाठी के अलावा मुक्काबाज़ फेम विनीत कुमार सिंह, अंगद बेदी और मानव विज जैसे मझे हुए कलाकार भी नज़र आने वाले हैं।

3. शरण शर्मा-  गुंजन सक्सेना को शरण शर्मा ने निर्देशित किया है। बतौर डायरेक्टर उनकी यह पहली फ़िल्म है। इससे पहले वह ये जवानी है दिवानी और ऐ दिल है मुश्किल जैसे फ़िल्मों में अस्सिटेंट डायरेक्टर का काम कर चुके हैं। इस फ़िल्म को उन्होंने निखिल मल्होत्रा के साथ मिलकर लिखा भी है। अब देखना है कि शरण क्या कमाल करते हैं?

4. असली कहानी- फ़िल्म कारगिल गर्ल के नाम से फेमस गुंजन सक्सेना की असल ज़िंदगी पर आधारित है। ख़ास बात है कि वह पहली ऐसी महिला हैं, जिन्होंने बतौर एयरफोर्स पायलेट के तौर युद्ध क्षेत्र में एयरोप्लेन उड़ाया है। बायोपिक के इस दौर में देखने की बात होगी कि यह कहानी लोगों को कितना प्रभावित करती है?

5.कोरियोग्राफी- पिछले कुछ समय से भारत में वॉर मूवी में कोरियोग्राफी और अच्छी तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। उरीः द सर्जिकल स्ट्राइक के बाद इस बाद की उम्मीद है कि इस फ़िल्म की भी कोरियग्राफी और टेक्निकल चीज़ें बेहतर होंगी।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *