भाजपा सरकार में होमगार्डों का बढ़ा मानदेय : होमगार्ड मंत्री

होमगार्ड की जरुरत, हल निकालेगी सरकार: होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान

भाजपा सरकार में होमगार्डों का बढ़ा मानदेय : होमगार्ड मंत्री

चेतन चौहान ने पूर्व की सरकार पर बोला हमला: 49 प्रतिशत जवानों को ही मिलती थी ड्यूटी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के होमगाड्र्स मंत्री चेतन चौहान ने आज कहा कि होमगाड्र्स की सेवाएं सुचारु रूप से चलती रहेंगी, लेकिन ड्यूटी के दिनों में कुछ कटौती की जाएगी। यह भरोसा मंत्री ने पत्रकारों को दी। देर शाम आनन-फानन में प्रेस कान्फ्रेंस कर उन्होंने बताया कि 25 हजार होमगॉर्ड्स को ड्यूटी से हटाने को लेकर अलग- अलग विभागों से चर्चा हुई है। पुलिस और गृह विभाग ने भी माना है कि होमगॉर्ड्स सभी की जरूरत बन चुके हैं। पुलिस विभाग के पास पैसा नहीं था, इसलिए होमगाड्र्स को हटाया गया है। उन्होंने कहा कि बैठक में जो फैसला हुआ है, उसकी सूचना मुख्यमंत्री को दी जाएगी। उम्मीद है कि सीएम इस पर कुछ फैसला लेंगे।

होमगाड्र्स मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार लोगों के बेहतर जीवन- यापन के लिए अधिक से अधिक रोजगार देने के लिये प्रतिबद्ध है। सरकार के कार्यकाल में होमगॉर्ड्स के पारिश्रमिक में बढ़ोत्तरी करते हुये वर्ष 2018 में 375 रूपये से 500 रूपये किया गया और अब 1 अक्टूबर से इसे बढ़ाकर 672 रूपये कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा होमगाडऱ्स कल्याण कोष की धनराशि 5 करोड़ रूपये से बढ़ाकर 10 करोड़ रूपये की गयी। इसके अलावा सभी होमगाडर््स का जीवन बीमा कराया गया, जिसके लिये सरकार द्वारा बीमा कम्पनी को 7,18,43,030 रूपये का भुगतान किया गया है।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में 30 से 40 प्रतिशत होमगार्ड्स स्वयं सेवकों को ड्यूटी मिलती थी, जबकि वर्तमान सरकार द्वारा प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुदृण करने के लिये लगभग सभी होमगॉर्ड्स को ड्यूटी देना प्रारम्भ किया गया है। यहीं नहीं पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में होमगाड्र्स के पारिश्रमिक में भी मामूली वृद्धि की गई है, जबकि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अब तक 297 रूपये की वृद्धि की जा चुकी है। हालांकि मंत्री के आश्वासन के बाद भी सवाल उठ रहें है कि पैसे कहां से आएंगे? वापसी का रोडमैप क्या होगा? इसपर मंत्री भी अपना रुख साफ नहीं कर पाए।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *