खुलासा : 600 में तमंचा, पांच हजार में तैयार करते थे राइफल

दोगुने से ज्यादा दाम पर बेचते थे असलहे

मेरठ

मेरठ में अवैध असलहे बनाने वाले आरोपियों ने शनिवार को चौंकाने वाला खुलासा किया है। वे 600 रुपये में तमंचा व पांच हजार रुपये में राइफल तैयार करते थे। आरोपियों से तमंचे, बंदूक और अवैध राइफल बरामद हुई हैं। मुख्य आरोपी राशिद उर्फ सद्दीक निवासी अनूपपुर ढिबाई सिंभावली हापुड़ को पुलिस पकड़ नहीं सकी। पुलिस ने इनके आतंकी कनेक्शन की भी जांच शुरू कर दी है।

एसएसपी अजय साहनी ने शनिवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता में बताया कि किठौर के शाहजहांपुर में मसीउल्लाह के घर में अवैध असलहे बनाते पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि वे कारीगर हैं। हथियार बनाने वाले औजार और तैयार अवैध असलहों को राशिद उर्फ सद्दीक सप्लाई करता था। जिसकी तलाश में पुलिस ने कई जगहों पर दबिश दी, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़ा।

आरोपियों ने बताया कि वे 600 रुपये में तमंचा तैयार करके 1500 रुपये में और पांच-छह हजार में राइफल तैयार कर 12 से 15 हजार रुपये में बेचते थे। यह अवैध धंधा राशिद ने कई जिलों में चलाया हुआ है। फैक्टरी में सभी कारीगरों को एक-एक हजार रुपये रोजाना दिया जाता था। एक कारीगर एक दिन में औसतन दो तमंचे तैयार करता था। यह कारीगर राशिद के कहने पर ऑन डिमांड बंदूक, तमंचे व राइफल तैयार करते थे। किठौर पुलिस को फैक्टरी की भनक नहीं थी। सर्विलांस टीम ने छापा मारकर भारी मात्रा में असलहे बरामद किए हैं। एसएसपी ने सर्विलांस टीम को 15 हजार का इनाम दिया है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *