बड़े बदलाव की नीव

नई दिल्ली
बड़े बदलाव की नीव छोटे छोटे प्रयासों से ही रखी जाती है। दुसरो की भलाई के लिए निस्वार्थ काम करना आसान नहीं होता, इसके लिए बोहोत साहस चाहिए होता है।

सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट ने ऐसा ही एक साहसिक फैसला लिया है।1 जुलाई को हुई अमृतसर बैठक में ट्रस्ट ने 100 गाओं की देखरेख का जिम्मा अपने सर लेने का फैसला लिया है। साथ ही वहा मैदान बनाने का और खेल का सामन उपलब्ध कराने का भी फैसला किया है। युवाओ को खेल कूद के लिए प्रेरित करने के लिए ट्रस्ट के चेयरमैन डॉ इस पि सिंह ओबेरॉय ने सभी ज़रूरी सिविधाये उपलब्ध कराने को कहा।

इसके अलावा 50 दिव्यांग बच्चों के लिए स्पेशल स्कूल और 50 वरिष्ठ नागरिको के लिया वरिष्ठ भवन के निर्माण का फैसला भी लिया गया है।जिसके लिए ज़मीन खरीदी जा चुकी है। जल्दी ही इन परियोजनाओं पर काम शरू हो जाएगा।

साथ ही चार नए नैदानिक केंद्र शुरू करने का भी फैसला लिया गया गया है। सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट पहले ही पटिआला, संगरूर, श्री गंगा नगर, श्री मुक्तसर साहिब, फरीदकोट, मोघा, पट्टी में ऐसे आठ नैदानिक केन्द्रो की श्रंखला चला रहा है।

सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट ज़रूरत मंद लोगो को मासिक पेंशन, स्वस्थ सुविद्याए, मुफ्त शिक्षा और कई अन्य सहयता उपलब्ध करता है। ताकि उनको एक बेहतर जीवन मिल सके।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *