अहमद पटेल का सवाल : भाजपा नेताओं पर छापेमारी क्यों नहीं हो रहा है !

सरकार उनकी है, एजेंसी उनकी है और जो भी करना है कर लें
बीजेपी के लोग हैं, उनके जो बेटे हैं, उनकी जो फाईलें पड़ी हैं
चाहे ईडी के पास हों या सीबीआई के पास हों, उनकी भी तो कम से कम जांच करें
नई दिल्ली

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के कुछ करीबियों पर आयकर विभाग के छापे को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार में राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ चुन चुनकर एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने सवाल किया कि भाजपा के उन नेताओं और उनके बेटों के यहां छापेमारी क्यों नहीं हो रही है जिन पर आरोप है?


पटेल ने संवाददाताओं से कहा, सरकार उनकी है, एजेंसी उनकी है और जो भी करना है कर लें। कोई भी दोषी है, उसके खिलाफ कार्रवाई करें, लेकिन कम से कम साथ-साथ जो बीजेपी के लोग हैं, उनके जो बेटे हैं, उनकी जो फाईलें पड़ी हैं, चाहे ईडी के पास हों या सीबीआई के पास हों। उनकी भी तो कम से कम जांच करें।उन्होंने कहा, अभी जो छापेमारी हो रही है, चुनिंदा ढंग ये क्यों कर रहे हैं? कम से कम बाकी लोगों के पास, आप अच्छी तरह से जानते हैं, किसके पास पैसा ज्यादा है और कहां से आया है, सब अच्छी तरह से जानते हैं, तो कम से कम उन पर भी तो रेड हों।

आयकर विभाग ने सोमवार को कहा कि उसने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी सहयोगियों और अन्य के खिलाफ की गई छापेमारी के दौरान करीब 281 करोड़ रुपये की बेहिसाबी नकदी के “विस्तृत एवं सुसंगठित” रैकेट का पता लगाया है। विभाग ने बताया कि अधिकारियों ने 14.6 करोड़ रुपये की “बेहिसाबी” नकदी बरामद की है और मध्य प्रदेश तथा दिल्ली के बीच हुए संदिग्ध भुगतान से जुड़ी डायरी तथा कंप्यूटर फाइलें अपने कब्जे में ली हैं।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा कि विभाग को 20 करोड़ रुपये की संदिग्ध नकदी के तुगलक रोड पर रहने वाले महत्त्वपूर्ण व्यक्ति के घर से “दिल्ली की बड़ी राजनीतिक पार्टी के मुख्यालय” तक कथित तौर पर जाने के सुराग भी मिले हैं। सीबीडीटी ने देर रात एक बयान जारी कर कहा, “अब तक शराब की 252 बोतलों, कुछ हथियारों और बाघ की खाल के अलावा 14.6 करोड़ रुपये की बेहिसाबी नकदी मिली है।”

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *