ब्रिटेन की शिक्षा उपरांत वीजा व्यवस्था से मिलेगा भारतीय छात्रों को लाभ

एजेंसी,लंदन

ब्रिटेन सरकार ने ब्रेक्जिट के बाद की नीतियों की तैयारी करते हुए शनिवार को नयी “अंतरराष्ट्रीय शिक्षा रणनीति” की घोषणा की जिसके तहत शिक्षा उपरांत वीजा व्यवस्था में सुधार होगा और भारतीय छात्रों को नि:संदेह इससे लाभ होगा।इस रणनीति का लक्ष्य ब्रिटेन की उच्च शिक्षण व्यवस्था का हिस्सा वाले अंतरराष्ट्रीय छात्रों की संख्या बढ़ाना है। मौजूदा संख्या 4,60,000 है जिसे 2030 तक हर साल बढ़ाकर 6,00,000 करने का लक्ष्य रखा गया है।

भारतीय छात्रों को पढ़ाई के बाद काम करने के विकल्प को लेकर ज्यादा संवेदनशील माना जाता है जो ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों में डिग्री पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद कार्य अनुभव हासिल करना चाहते हैं। यूरोपीय संघ से इतर चीन के बाद सबसे ज्यादा आवेदक भारत के छात्र हैं जो ब्रिटेन में पढ़ने के इच्छुक रहते हैं। नयी रणनीति के तहत स्नातक एवं स्नातकोत्तर के छात्रों को पढ़ाई पूरी करने के बाद ब्रिटेन में काम ढूंढने के लिए छह माह रहने का मौका मिलेगा। यह रणनीति आगामी सालों में प्रभावी होगी।

 

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *