शराब कांड: 87 लोगों की मौत का मुख्य आरोपी अर्जुन गिरफ्तार, बताया- कैसे बनाता था जहरीली शराब

सहारनपुर।

यूपी और उत्तराखंड सरकार को हिलाने वाले शराब कांड के मुख्य आरोपी अर्जुन को रुड़की से सहारनपुर और रुड़की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, जहरीली शराब से पांचवें दिन भी मौत का सिलसिला जा रही है। देवबंद के धनपाल की मंगलवार सुबह जिला अस्पताल में मौत हो गई। इस तरह अब तक मृतकों की संख्या 87 पहुंच गई है, जबकि प्रशासन का दावा है कि 59 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से 36 मृतकों के परिजनों को मुआवजे के दो-दो लाख के चेक सौंप दिए गए। शराब कांड की जांच को गति देने के लिए एसआईटी के एडीजी संजय सिंघल सहारनपुर आ गए। अब तक की जांच में छह अफसर घेरे में आते दिख रहे हैं।

सहारनपुर और रुड़की पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी करके शराब कांड के मास्टर माइंड अर्जुन निवासी तेजपुर थाना भगवानपुर, उत्तराखंड और उसके चालक को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी दिनेश कुमार ने बताया कि उत्तराखंड में हुई पूछताछ में अर्जुन ने बताया कि वह एक फर्म से 16 हजार रुपये में केमिकल आइस्ट्रो प्रोफाइल अल्कोहल का एक ड्रम खरीदते थे। उसमें दो गुना पानी मिलाकर शराब बना लेते थे। जिस शराब से मौत हुई वह केमिकल वाली ही शराब थी। इसके अलावा पुलिस ने अवैध शराब की खरीद-फरोख्त करने के आरोप में दर्जन भर लोगों को भी गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को जहरीली शराब पीने से थाना देवबंद क्षेत्र के गांव शिवपुर निवासी धनपाल (50)की मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि धनपाल जहरीली शराब पीने ने आठ फरवरी की रात को तबियत खराब हो गई थी। उसे जौली ग्रांट स्थित मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। उसके बाद सोमवार रात करीब 11 बजे धनपाल को जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां पर सुबह सात बजे उसने दम तोड़ दिया।

मंगलवार शाम को चार बजे एसआईटी के अध्यक्ष एवं एडीजी रेलवे संजय सिंघल सहारनपुर पहुंचे। उन्होंने एसआईटी के सदस्य बनाए गए कमिश्नर सीपी त्रिपाठी और आईजी शरद सचान के अलावा डीएम और एसएसपी से अलग-अलग मामले की जानकारी ली। कमिश्नर सीपी त्रिपाठी ने बताया कि दो दिन की जांच के बाद रिपोर्ट तैयार कर ली जाएगी। उसके बाद रिपोर्ट शासन को सौंप देंगे।

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा- अर्जुन ने रुड़की की दवा कंपनी से एक ड्रम केमिकल खरीदा था। केमिकल का नाम आइस्ट्रो प्रोफाइल अल्कोहल है। इस केमिकल में दो गुना पानी मिलाकर शराब बनाई जाती थी। जिस शराब से मौत हुई हैं, उसे भी इसी केमिकल से बनाया गया था। अर्जुन पहले दवा कंपनी में काम करता था, इसलिए उसे केमिकल के बारे में जानकारी थी। जिस रुड़की की कंपनी से केमिकल खरीदा गया उसका नाम एसी सेल्यूलोज प्रा.लि. है। यह केमिकल कैपसूल पर स्प्रे करने के काम आता है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *