बलिया के ददरी मेला में सीटियारों का फरमान : बहनों को छेड़ो पुलिस नही करेगी कार्रवाई !

ददरी मेला में लड़कियों ने छेडख़ानी करने वाले युवक को धुना,पुलिस ने लठियाने के बजाए छोड़ा

पुलिस का तर्क : लड़कियों ने नहीं की रिपोर्ट, क्या पुलिस को उसकी धुनाई नहीं करनी चाहिए?

पुलिस ने यदि सीटियारे को मारा होता तो शायद उसे राह चलती सभी लड़कियों में बहन का चेहरा दिखता

पिन्टू सिंह
बलिया। पूर्वांचल की सरजमीं पर ऐतिहासिक ददरी मेला देखने की उत्सुकता सूबे के लोगों में बनी रहती है। इस मेले का ऐतिहासिक महत्व के साथ-साथ देश के कोने-कोने से आने वाले दुकानदारों के सामान,व्यंजन का लुत्फ लोगबाग उठाते हैं लेकिन…। इस मेले में लोगबाग नींबू और गुडही जलेबी का मजा लेने खासकर आते हैं। इस बार चल रहे ददरी मेला में सीटियारों का आतंक है। इन लोगों ने अपनी घटिया हरकतों की वजह से पूर्वांचल को शर्मशार कर रखा है और मामू चुप्पी साध कर थाने में ऊंघिया रहे हैं। दो दिन पूर्व मेले में एक युवक ने एक लडक़ी के साथ छेडख़ानी की जिस पर उसने सीटियारे को धरदबोचा और जमकर धुनाई की।

घंटों सीटियारे का बाल पकडक़र जूती से,थप्पड़ों से मारती रही। देखा-देखी मेले में चल रहे राहगीरों ने भी सीटियारे पर जूतों की बारिश की। मेले में एक तरह से पूरा कोहराम मच गया। लोगबाग मेला छोड़ सीटियारे का फ्री में मेला देखने लगे। मौके पर पुलिस पहुंची और सीटियारे को थाने ले गई। कुछ घंटे बाद उसके जेब की तलाशी ली,जो चवन्नी-अठन्नी मिला निकाल लिए और उसे स-सम्मानपूर्वक छोड़ दिया।

बलिया के जागरूक नौजवानों में इस बात को लेकर आक्रोश है। नौजवानों ने द संडे व्यूज़ के पास एक वीडियो भेजा है जिसमें सीटियारे की धुनाई हो रही है। मौके पर पुलिस भी पहुंची। आखिर पुलिस के अफसरों ने ये तर्क क्यों दिया कि लड़कियों ने लिखित शिकायत नहीं की,इसलिए कार्रवाई नहीं की गई। मेला देखने आने वाली लड़कियां जब धुनाई कर रह थीं तो आपके पुलिस वाले वहां मौजूद थें,क्या पुलिस के बयान पर कार्रवाई नहीं कर सकते थे?

वैसे भी बाहर से आने वाली लड़कियां क्यों लिखित शिकायत कर थाने का चक्कर लगाती…। ये तो साबित हो गया कि पुलिस की निष्क्रियता से ददरी मेला में सीटियारों का बोलबाला है लेकिन एक बात है उन लड़कियों ने अपनी पूरी भड़ास सीटियारे पर निकाल ली है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *