समिट में पीएम मोदी बोले, ‘ राज्यों के सामर्थ्य को जोड़ा जाए तो देश के विकास को कोई नहीं रोक सकता’

देहरादून

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तराखंड में पहली बार आयोजित ‘इन्वेस्टर्स समिट’ का उद्घाटन किया। रविवार को देहरादून के रायपुर स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में दो दिवसीय ‘उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट’ का आगाज हुआ। प्रधानमंत्री मोदी सुबह करीब साढ़े 10 बजे वायुसेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। जहां राज्यपाल बेबी रानी मौर्या और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनका स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी एमआई-17 विमान से कार्यक्रम स्थल पहुंचे।

प्रधानमंत्री की लैंडिंग के साथ एयरपोर्ट से रायपुर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम तक जीरो जोन लागू कर दिया गया। एसपी ट्रैफिक स्वयं रूट पर मौजूद रहे। समिट का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी ने समिट में लगी प्रदर्शनी और स्टॉल्स का जायजा लिया। उनके साथ उत्तराखंड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज भी मौजूद रहे। इसके बाद प्रधानमंत्री को 360 डिग्री वीडियो के जरिए उत्तराखंड की प्राकृतिक सुंदरता, वन, पर्यटन, बागवानी, धर्म और संस्कृति के नजारे दिखाए गए। इस दौरान राज्य में रोजगार की संभावनाएं भी दिखाई गई। उत्तराखंड की पारंपरिक वंदना ‘दैंणा हुंय्या, खोलि का गणेशा’ के साथ समिट का शुभारंभ हुआ। 30 कलाकारों के दल ने यह मांगल गीत प्रस्तुत किया। कलाकार उत्तराखंड के पारंपरिक परिधानों में सजे हुए थे।

उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार के बाद देश-विदेश से आए बड़े निवेशकों ने अपने विचार रखे। निवेशकों के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी, उत्तराखंड राज्यपाल, सिंगापुर के मंत्री, चेक गणराज्य के राजदूत, मंत्रियों, उद्योग जगत की हस्तियों और निवेशकों का अभिवादन किया। उन्होंने कहा कि अाज का दिन हमारे लिए सौभाग्य का है। उन्होंने ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ अवार्ड’ प्राप्त करने पर पीएम मोदी को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को शॉल और दो पुस्तकें ‘थ्रॉन्स ऑफ द गॉड्स’ व ‘क्राफ्ट्स ऑफ उत्तराखंड’ भेंट की। इसके साथ ही पीएम मोदी को जौनसारी वस्त्र भेंट किया गया।

संबोधन की शुरुआत में पीएम मोदी ने सबका आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि हम नए भारत की तरफ बढ़ रहे। भारत वर्ल्ड ग्रोथ का प्रमुख ईंजन बनने वाला है। महंगाई पर नियंत्रण है। मीडिल क्लास का तेज गति के विकास हो रहा है। अस्सी प्रतिशत युवा शक्ति सामर्थ्य से भरपूर है। बैंकिंग सिस्टम को ताकत मिली है। जीएसटी के तौर पर स्वतंत्रता के बाद सबसे ज्यादा टैक्स मिला। भारत में एविएशन सेक्टर रिकॉर्ड गति से आगे बढ़ रहा है। उस गति को और तेज करने के लिए हवाई कनेक्टिविटी मुहैया कराने की कवायद जारी है। पीएम मोदी ने कहा कि इज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत केंद्र सरकार और राज्य ने 10 हजार से ज्यादा कदम उठाए हैं। जिससे इसमें 42 अंकों का सुधार हुआ है।

हमने 14 सौ से ज्यादा कानून खत्म किए हैं। आज यह कहा जा सकता है कि चौतरफा परिवर्तन के दौर में निवेशकों के लिए भारत में सर्वोत्तम माहौल बना हुआ है। आयुष्मान योजना से मेडिकल सेक्टर में निवेश की संभावना बढ़ी हैं। जिसमें आने वाले समय में मेडिकल कॉलेज और अस्पताल बनेंगे। इस योजना के तहत एक परिवार को 5 लाख रुपए तक का बैनिफिट मिलेगा। जिसके लिए कई अस्पतालों और डॉक्टरों की जरूरत पड़ेगी। आज भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर में जितना इनवेस्ट किया जा रहा है, पहले कभी नहीं किया गया। उत्तराखंड हमारे न्यू इंडिया को रिप्रेजेंट करता है।

 

राज्य के विकास के लिए उत्तराखंड सरकार भरसक प्रयास कर रही है। अब जरूरत है कि इस मंच पर जो बातें और वायदे हुए हैं, वो जल्द से जल्द जमीन पर उतरें। जिससे उत्तराखंड के युवाओं को रोजगार मिले। मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड में पर्यटन को उद्योग का दर्जा दे दिया है। किसानों को लाभ मिले इसलिए फूड प्रोसेसिंग पर हमारा ध्यान है। मैं आपसे एग्रीकल्चर में निवेश करने का आग्रह करता हूं। हम जितना ज्यादा निवेश प्राइवेट एग्रीक्लचर क्षेत्र में करेंगे, उससे भारत की अर्थव्यवस्था को नया आयाम मिलेगा। दुनिया का नेतृत्व करने की ताकत भारत में है।

उत्तराखंड में इतने संसाधन है कि वह हिंदुस्तान को सामर्थ्यवान बना सकता है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी ‘मेक इन इंडिया’ योजना केवल भारत के लिए नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के लिए है। दुनिया के अनेक बड़े ब्रांड ‘मेक इन इंडिया’ का हिस्सा हैं। ऑटोमोबाइल क्षेत्र में भारत आगे बढ़ रहा है। पीएम ने बताया कि इस इवेंट में जापान उत्तराखंड का पार्टनर है। उन्होंने कहा कि जो कार पहले जापान में बनकर भारत में आयात की जाती थी, आज भारत उनका निर्यात कर रहा है। निवेशकों को परेशानी न हो इसलिए सब सिस्टम ऑन लाइन कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर राज्यों के सामर्थ्य को चैनलाइज किया जाए तो कोई भारत के विकास को नहीं रोक सकता। दुनिया के कई देशों से हमारे राज्यों का सामर्थ्य ज्यादा है। स्प्रीचुअल ईको जोन की ताकत लाखों गुना ज्यादा है। उत्तराखंड पर उसमें भी ध्यान केंद्रीत किया जाए। उन्होंने कहा कि 2025 में जब उत्तराखंड रजत जयंती समारोह बनाएगा तो वह नए रूप में उभरेगा। संबोधन के आखिर में उन्होंने कहा कि भारत सरकार की तरफ से उत्तराखंड को पूरा सहयोग मिलेगा। अपने संबोधन के बाद प्रधानमंत्री एमआई – 17 से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे और वायु सेना से विमान से दिल्ली लौट गए।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *