आप भी लेते हैं पेनकिलर तो हो जाएं सावधान, कहीं मौत की नींद न सुला दे !

नई दिल्ली

अध्ययन में यह भी देखा गया कि दर्द निवारक दवाएं ब्लड प्रेशर घटाने में इस्तेमाल होने वाली दवाओं को बेअसर बनाती हैं। मुख्य शोधकर्ता मॉर्टन शिमित के मुताबिक दर्द निवारक दवाएं दिल की धड़कन को अनियंत्रित करती हैं। इससे व्यक्ति को बेचैनी, घबराहट, सीने में दर्द और पसीना आने की शिकायत हो सकती है। उन्होंने सभी देशों की सरकारों से ऐसा सख्त कानून बनाने की मांग की, जिसके तहत बिना डॉक्टर के पर्चे के दवा की दुकानों पर पेनकिलर की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध हो।

खतरा

-पैरासिटामॉल, आइबुब्रूफेन और डाइक्लोफेनैक से लैस दवाएं किडनी की क्रिया प्रभावित करती हैं

-शरीर में पानी-सोडियम का स्तर बढ़ने से रक्त प्रवाह तेज होता है, नस फंटने की रहती है आशंका

-ब्लड प्रेशर घटाने में इस्तेमाल होने वाली विभिन्न दवाओं को भी बेअसर बनाती हैं दर्द निवारक गोलियां

दर्द से राहत दिलाएंगी ये 5 चीजें

1.हल्दी : फ्री-रैडिकल्स को नष्ट करने वाले ‘करक्युमिन’ की मौजूदगी दर्द का एहसास घटाने में कारगर।

2.लौंग : ‘इयुगेनॉल’ नाम के प्राकृतिक दर्द निवारक यौगिक से लैस। दांत के दर्द में सबसे ज्यादा असरदार।

3.अदरक : दर्द का सिग्नल दिमाग तक पहुंचाने वाले दो एंजाइम की क्रिया बाधित करने वाले यौगिक पाए जाते हैं।

4.बादाम : ओमेगा-3 फैटी एसिड मांसपेंशियों में दर्द, सूजन, खिंचाव का सबब बनने वाले रसायनों को निष्क्रिय करता है।

5.बर्फ, गर्म पानी की सिंकाई : नसों में खून का प्रवाह सुचारु बनाकर जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द कम करती है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *