पाकिस्तान चुनाव: अबकी बार इमरान सरकार

 इस्लामाबाद।

पाकिस्तान में नेशनल असेंबली के लिए बुधवार को हुए चुनाव के बाद वोटों की गिनती में गुरुवार को पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी बढ़त बनाए हुए है। जबकि, जेल में बंद नवाज शरीफ की पार्टी ने इसमें भारी अनियमिता का आरोप लगाया है। पाकिस्तानी चुनाव आयोग ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए परिणाम आने में देरी के लिए तकनीकी कारणों को जिम्मेदार बताया है। इमरान खान खेमे को चुनाव में जीत का पूरा भरोसा है लेकिन नेशनल एसेंबली में पूर्ण बहुमत से अभी दूर दिख रहा है। आइये जानते हैं पाकिस्तान आम चुनाव 2018 से जुड़ी 10 बातें-
1-चुनाव में आए परिणाम में हाफिज सईद की पार्टी को बड़ा झटका लगा है। इस चुनाव में आए अब तक के परिणाम के मुताबिक हाफिज सईद और उसका दामाद चुनाव हार गया है।2- दो बार पाकिस्तान की प्रधानमंत्री रही बेनजीर भुट्टे के बेटे और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो खैबर पख्तूनख्वाह से चुनाव हार गए हैं।3-चुनाव आयोग के मुताबिक, इसमें इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी 272 सीटों में से 121 पर बढ़त बनाए हुए है। नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) 58 सीटों पर आगे चल रहे हैं जबकि दो बार प्रधानमंत्री रह चुकीं बेनजीर भुट्टो के बेटे की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) इस चुनाव में 35 सीटों पर आगे चल रही है।4-चुनाव आयोग ने गुरुवार तड़के कहा कि तकनीकी कारणों के चलते परिणाम आने में देरी हुई है। सेक्रेटरी बाबर याकूब ने संवाददाताओं से कहा- इसमें कोई षडयंत्र नहीं है ना ही परिणाम में देरी का कोई दबाव है। परिणाम में इसलिए देरी आई क्योंकि ट्रांसमिशन सिस्टम में गड़बड़ी आ गई।
5-इमरान खान कैम्प को इस चुनाव में जीत का भरोसा है। हालांकि, नेशनल एसेंबली में जरूरी 137 सीटों से अभी वह दूर दिख रही है। ऐसे मे सवाल यह उठता है कि सरकार बनाने के लिए छोटी पार्टी और निर्दलीय उम्मीदवारों का सहारा लेना पड़ सकता है।
6-पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल-एन) की अगुवाई करनेवाले नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ ने वोटों की काउंटिंग को खारिज करते हुए आरोप लगाया का पोलिंग स्टेशन पर तैनात सेना के जवानों ने राजनीतिक पार्टी के लोगों को बाहर निकाल दिया। उन्होंने इसमें धांधली का आरोप लगाया।
7- -वोटों की काउंटिंग से इतर शाहबाज शरीफ ने न्यूज कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा-  काफी हेराफेरी हुई है। जिस तरह से जनादेश का अपमान किया गया है यह असहनीय है। हम पूरी तरह से चुनाव परिणाम को खारिज करते हैं। यह पाकिस्तान में लोकतांत्रिक प्रक्रिया के लिए बड़ा झटका है।
8-इस समय पाकिस्तान में चुनाव सेना की तिकड़मबाजी के आरोप के साथ ही आतंकियों और कट्टरपंथियों की भागीदारी पर चिंता के बीच हुआ है।
9-चुनाव में खासकर जिन दो पार्टियों के बीच रेस थी वो हैं- पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी और और जेल में बंद पूर्व क्रिकेटर नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज।
10-संसद के निचली सदन की 272 सीटों के लिए चुनाव में 30 राजनीतिक पार्टियों ने अपने उम्मीदवार उतारे थे। जबकि, 8,396 उम्मीदवारों ने चार प्रांतीय चुनाव0 पंजाब, सिंध, बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वाह में अपनी किस्मत आजमायी है। करीब 10.6 करोड़ वोटर रजिस्टर्ड हैं।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *