video 14 को पीएम को पीला झंडा दिखाकर उपस्थिति दर्ज कराएंगे भासपा कार्यकर्ता

14 को पीएम को पीला झंडा दिखाकर उपस्थिति दर्ज कराएंगे भासपा कार्यकर्ता 

भासपा एनडीए का अंग है,फिर क्यों नहीं मिलने दिया जा रहा: शशि प्रताप सिंह

पीएम को पत्र नहीं देने का ऊपर से आदेश है: प्रशासन

14 को पीएम को पीला झंडा दिखाकर उपस्थिति दर्ज कराएंगे भाकपा कार्यकर्ता

ब्यूरो
बनारस।

बनारस में आज प्रधानमंत्री कार्यालय पर बड़ी उम्मीद के साथ पत्र देने आए भासपा के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस प्रशासन के सौतेले व्यवहार से जूझना पड़ा। हालांकि ओमप्रकाश राजभर की पार्टी भासपा भी एडीए का एक अंग है लेकिन पूर्वांचल में प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में आज जो नजारा देखने को मिला उससे तो यही लगता है कि ऊपर से प्रशासन पर दबाव था कि भाकपा के कार्यकर्ताओं का पत्र न लिया जाए। एक तरह से कार्यकर्ताओं को संदेश दिया जाए कि वे प्रधानमंत्री से नहीं मिल सकते हैं। वजह क्या,नहीं मालूम लेकिन भाजपा वालों ने भासपा कार्यकर्ताओं पर पूरी तरह से दबाव बनाते दिखें लेकिन इनलोगों ने भी ठान लिया है कि 14 जुलाई को वे विरोध नहीं करेंगे लेकिन प्रधानमंत्री को अपनी पार्टी की शान पीला झंडा दिखाकर अपनी उपस्थिति तो दर्ज कराएंगे ही।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव शशि प्रताप सिंह ने बताया कि सैकड़ों नेताओं को पुलिस-प्रशासन ने पीएमओ कार्यालय से 50 मीटर दूर ही रोक लिया। कहा गया कि ऊपर से आदेश है, आपलोगों को पीएम में पत्रक नही देने दिया जायेगा। हमलोगों ने कहा कि एक आदमी जाकर पत्रक देगा, फि र भी नही माना पुलिस प्रशासन ने। भासपा के लोग पत्रक के माध्यम से प्रधानमंत्री से मिलना चाहते थे, गठबंधन के साथी के अधिकार से, लेकिन पत्रक तक नहीं देने दिया गया। यह गठबंधन के साथ धोखा है । जब प्रधानमंत्री कार्यालय में जाने से रोका जा रहा है, तो प्रधानमंत्री मंत्री से मिलने की बात तो सपना लगता है। ऐसे गठबंधन धर्म को निभा पाना कठिन समझ मे आ रहा है। यह सौतेला व्यवहार है।

यह किसके इसारे पर हो रहा है कहना मुश्किल है, जबकि 11 जुलाई को कमिश्नर से मिलकर उनको पत्रक दिया गया था। उन्हें अवगत कराया गया था कि कल पीएम को भी पत्रक दिया जाएगा लेकिन दुर्भाग्य सैकड़ों कार्यकर्ता को बैरंग वापस जाना पड़। 13 जुलाई तक अनुमति का इंतजार किया जाएगा अन्यथा 14 जुलाई को प्रधानमंत्री को पार्टी का पीला झंडा दिखाकर उनको नोटिस कराया जायेगा की हम लोग भी एनडीए का एक अंग है। आज की उपेक्षा बर्दास्त के बाहर है। इस दौरान पार्टी के राजेश यादव, गणेश चौहान , रमेश राजभर, सुनील पटेल, नित्यानंद पांडेय, रवि पटेल, उमेश मिश्रा, चंदन विश्कर्मा, दुर्गा राजभर, राजेन्द्र पटेल, संकर राजभर, संचु राजभर, सुनील राजभर,कैलास, श्रवण त्रिलोकी आदि मौजूद थें।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *