पीएम मोदी से मिले राजनाथ, ईद के बाद घाटी में ऑपरेशन ऑलआउट के लिए सेना तैयार

सुरक्षा बल चाहते हैं कार्रवाई

मनोबल बनाए रखना चाहती है सरकार

नई दिल्ली

ईद के बाद घाटी में ऑपरेशन ऑलआउट के लिए सेना तैयार है। सेना व सुरक्षा बलों ने घाटी में पत्रकार शुजात बुखारी और सेना के एक जवान की आतंकियों द्वारा नृशंस हत्या के बाद बड़े पैमाने पर अभियान के लिए कमर कस ली है।
सुरक्षा बल घाटी में आतंकियों के खिलाफ सघन अभियान की तैयारी में हैं। सेना और अर्धसैनिक बलों को राजनीतिक नेतृत्व से हरी झंडी का इंतजार है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर घाटी के हालात पर चर्चा की है। माना जा रहा है कि राज्य सरकार को भरोसे में लेने के बाद केंद्र सरकार ईद के बाद घाटी में सैन्य ऑपरेशन पर बड़ा फैसला कर सकती है। अधिकारियों ने बताया कि बैठक के दौरान समझा जाता है कि गृह मंत्री ने वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या समेत हाल में हुई हत्याओं के मद्देनजर कश्मीर घाटी की सुरक्षा स्थिति की जानकारी दी।

संक्षिप्त बैठक के दौरान समझा जाता है कि गृह मंत्री ने दो महीने की अमरनाथ यात्रा के दौरान सुरक्षा स्थिति की जानकारी दी। अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू हो रही है। बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और खुफिया एवं सुरक्षा एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी शरीक हुए।

केंद्र सरकार के सूत्रों ने कहा कि सरकार घाटी के हालात पर चिंतित है। हालांकि रमजान के दौरान सीजफायर के ऐलान से घाटी में अच्छे असर की बात कही जा रही है। राज्य सरकार व स्थानीय एजेंसियों की ओर से सुरक्षा बलों के अभियान रोकने के बाद से घटनाएं काफी कम होने और माहौल में सकारात्मक असर की बात है। लेकिन सुरक्षा बलों का मानना है कि ज्यादा लंबी अवधि तक ऑपरेशन रोकने से आतंकी गुट फिर से ताकत हासिल कर सकते हैं।

अलग-अलग रिपोर्ट के चलते केंद्र सरकार में उहापोह की स्थित है। सूत्रों ने कहा कि केंद्र सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती सैन्य व सुरक्षा बलों का मनोबल बनाए रखना है। बड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षा बलों को घाटी में आतंकियों की रीढ़ तोड़ने में कामयाबी मिली हे। सेना व सुरक्षा बलों ने मिलकर पिछले एक साल के दौरान घाटी में लश्कर व जैश के बड़े आकाओं को मार गिराया है। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि आतंकियों के खिलाफ अभियान पर रमजान तक ही रोक थी। इस रोक को बढ़ाने के बारे में सरकार की ओर से फिलहाल कोई निर्देश सुरक्षा बलों को नहीं दिए गए हैं।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *