नैनीताल नहीं पहुंच पाएंगे पर्यटक, जानिए क्यों नहीं जाने दी जा रही हैं गाड़ियां

उत्तराखंड के नैनीताल पर्यटक आज भी नहीं जा सकते हैं। ऐसे में गर्मी से बेहाल जिन लोगों का पहले से यहां जाने का प्लान हैं उनको परेशानी उठानी पड़ रही है। इसके अलावा जो पर्यटक यहां पहले से हैं वो भी वहां ठंडे मौसम का मजा नहीं ले पा रहे हैं। पर्यटन स्थल नैनीताल के अधिकारियों ने निजी वाहनों में आ रहे पर्यटकों से अपील की है कि वे अपनी गाड़ियों को शहरकी सीमा के बाहर छोड़कर हीं शहर में प्रवेश करें। शहर में विभिन्न स्थानों पर इस संबंध में बैनर लगाए गए हैं। उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने शहर में यातायात की लचर व्यवस्था के लिए अधिकारियों को लताड़ा था। इसके बाद यह कदम उठाया गया है।

आम तौर पर किसी भी शहर में प्रवेश करने पर वहां स्वागत के बोर्ड लगे होते हैं लेकिन नैनीताल के प्रमुख चौराहों और पर्यटन स्थलों पर  इन दिनों ‘नैनीताल हाउसफुल’  के बैनर लगे हुए हैं। भीमताल चौराहा, काठगोदाम पुलिस चौकी चौराहा और नरीमन चौराहा पर ये बैनर लगाए गए हैं। नैनीताल के यातायात पुलिस के प्रभारी महेश चंद्र ने बताया कि ये बैनर कल लगाए गए क्योंकि अधिकारियों को यातायात को नियंत्रित करने में खासी मशक्कत हो रही है।  यातायात को नियंत्रित करने में खासी मशक्कत हो रही है।

यातायात पुलिस के प्रभारी महेश चंद्र ने बताया कि नैनीताल में 12 पार्किंग स्थल हैं, जिसमें कुल 2,000 चारपहिया वाहनों को रखा जा सकता है लेकिन शहर में प्रतिदिन तीन से चार हजार वाहन आ रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश से सप्ताहांत में सैलानियों के आने पर यातायात की स्थिति नियंत्रण से बिल्कुल बाहर हो जा रही है। उन्होंने कहा, ”ऐसी स्थिति में हमारे पास पर्यटकों से शहर की सीमा के बाहर वाहन छोड़कर आने का आग्रह करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। पर्यटकों के वाहनों को शहर के बाहरी इलाके कालाडुंगी, नारायण नगर, रूसी बायपास के पास अस्थायी तौर पर रोका जा रहा है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *