बहुएं नहीं, बेटे करते हैं बुजुर्गों का अधिक उत्पीड़न

टॉप-5 शहरों में शामिल दिल्ली

दिल्ली

बुजुर्गों का उत्पीड़न करने के मामले में बेटे, बहुओं से काफी आगे हैं। एक हालिया अध्ययन में यह चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है जिसके अनुसार, 52 फीसदी बेटे बुजुर्गों का उत्पीड़न करते हैं तो ऐसी बहुओं की संख्या 34 फीसदी है।हेल्पएज इंडिया ने बृहस्पतिवार को 23 शहरों की एक रिपोर्ट जारी की। इस शोध का उद्देश्य यह पता लगाना था कि दुर्व्यवहार किस हद तक, कितना ज्यादा, किस रूप में, कितनी बार होता है और इसके पीछे कारण क्या हैं। इसमें पता चला कि लगभग एक चौथाई बुजुर्ग आबादी को व्यक्तिगत तौर पर उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है।

हैल्पएज इंडिया के सीईओ मैथ्यू चेरियन ने कहा कि दुर्भाग्य से बुजुर्गों का उत्पीड़न घर से शुरू होता है और इसे अंजाम वे लोग देते हैं जिन पर वह सबसे ज्यादा विश्वास करते हैं। उन्होंने बताया कि इस साल, दुर्व्यवहार को अंजाम देने वाले लोगों में सबसे पहले बेटे हैं, उसके बाद बहुएं हैं। पहले के सर्वेक्षणों में पाया गया कि बुजुर्गों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों में सबसे आगे बहुएं होती हैं।

इसमें यह भी पता चला कि दुर्व्यवहार के शिकार 82 फीसदी बुजुर्ग परिवार की खातिर इसकी शिकायत नहीं करते या वह यह नहीं जानते कि समस्या से किस प्रकार निपटा जा सकता है।23 शहरों की इस रिपोर्ट में राजधानी दिल्ली देश के उन पांच शहरों में शामिल है जहां बुजुर्गों के साथ सबसे अधिक दुर्व्यवहार होता है। इसके मुताबिक बुजुर्गों के साथ सबसे ज्यादा दुर्व्यवहार मंगलूरू (47 फीसदी), उसके बाद अहमदाबाद (46 फीसदी), भोपाल (39 फीसदी) अमृतसर (35 फीसदी) और दिल्ली (33 फीसदी) में होता है।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *