पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि पर सरकार गंभीर : अमित शाह

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि पर सरकार गंभीर : अमित शाह

 पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान  की सभी तेल कंपनियों के साथ करेंगे बैठक

नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर कांग्रेस समेत विपक्षी दलों की आलोचनाओं से केंद्र को मोदी सरकार घिर गई है। चौतरफा हमले घिरी मोदी सरकार का पक्ष रखने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को मंगलवार को मैदान में उतरने को मजबूर होना पड़ा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही पर सरकार गंभीर है। उन्होंने कहा कि अगले 2-4 दिनों में कोई फार्मूला या समाधान निकाल लिया जायेगा।

शाह ने भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि जहां तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों का विषय है। सरकार इसको लेकर काफी गंभीर है। बुधवार को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान  की सभी तेल कंपनियों के साथ बैठक हो रही है। उन्होंने कहा कि एक फार्मूले के तहत पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़े हैं और इस विषय पर क्या विचार करना है, इस पर सरकार के उच्चतम स्तर पर विचार हो रहा है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जल्द ही कोई न कोई फार्मूला या समाधान ढूंढने के लिये सरकार में बैठे कार्यकर्ता निश्चित तौर पर प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम मंत्री ने यह बात बताई है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल डीजल पर उत्पाद शुल्क और राज्य सरकारें वैट घटाएं ताकि आम जनता को राहत मिल सके। पार्टी महासचिव अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की रिकॉर्ड दरों के लिए याद की जाएगी। पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से स्वाभाविक रूप में महंगाई बढ़ती है और आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ने का सीधा असर आम नागरिकों पर पड़ता है, जो इसे बर्दाश्त करने को मजबूर हैं। माकपा ने आरोप लगाया कि तेल की कीमतों में लगातार वृद्धि से आम लोग प्रभावित हो रहे हैं।

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *