सत्ता से प्यार होता तो बन जाते सीएम : तेजस्वी यादव

गरीब महासम्‍मेलन : तेजस्वी ने नीतीश को बताया घाट-घाट पानी पीने वाला

पटना। हिन्‍दुस्‍तानी आवामी मोर्चा के जीतन मांझी द्वारा आयोजित गरीब महासम्‍मेलन में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्‍वी यादव समेत विपक्ष के कई नेता पहुंचे। इस दौरान तेजस्‍वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें घाट-घाट का पानी पीने वाला व्यक्ति बताया। साथ ही तेजस्वी ने नीतीश को अकेले अपने दम पर सरकार बनाने की चुनौती भी दी।

 

पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार आरक्षण विरोधियों और मनुवादियों की गोद मे झूला झूल रहे हैं। घाट-घाट का पानी पी चुके हैं और पाला बदलने में माहिर हैं। लेकिन वो बिना बैशाखी के कभी खड़े नहीं होते। बिहार में बीजेपी के साथ मिलकर कुर्सी-कुर्सी खेल रहे हैं और फिलहाल नए जगह की तलाश में लग गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि नीतीश कुमार बीजेपी के साथ भी बहुत ज्यादा दिन नही रहने वाले नही है।

तेजस्वी ने चुनौती देते हुए कहा कि मैं उन्‍हें चुनौती देता हूं कि वे अकेले सरकार बनाकर दिखाएं। यह बात उन्‍होंने हिन्‍दुस्‍तानी आवामी मोर्चा द्वारा आयोजित गरीब महासम्‍मेलन में कही। तेजस्‍वी ने पटना ऐतिहासिक गांधी मैदान में आयोजित गरीब महासम्‍मेलन में जीतनराम मांझी के साथ मंच साझा करते हुए कहा कि जीतन राम मांझी के आने से महागठबंधन को नई ताकत मिली है। हम सब एक साथ मिलकर शोषितों, पिछड़ों, दलितों और दबेकुचले लोगों का समाज की मुख्‍यधारा में लाने का काम करेंगे।

बीजेपी के साथ नीतीश के जाने पर तेजस्वी ने उन्हें सत्ता का लोभी बताया तेजस्वी ने कहा कि अगर उन्हें सत्ता से प्यार होता तो वे भी बीजेपी से हाथ मिला लेते और सीएम बन जाते। उन्होंने कहा कि न तो उनके पिता लालू प्रसाद यादव सामंती ताकतों के सामने झुके और न हीं वह झुकने वाले हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार मेरे पिता को जेल में डालकर और पूरे परिवार पर मुकदमा कर हमें डराना चाहती है। मेरे उपर भी कई मुकदमें किये गये। लेकिन, मैं शेर का बेटा हूं। डरने वाला नहीं हूं। गलती हमारी थी कि नीतीश कुमार को सीएम बना दिया।

Post Author: Sanjay Srivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *