सीबीएसई 12वीं की गणित परीक्षा की ऐसे करें तैयारी

सीबीएसई 12वीं में गणित के पेपर की तैयारी बेहद महत्वपूर्ण होती है क्योंकि 12वें के गणित संबंधित प्रश्न कई प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में भी पूछे जाते हैं। गणित को 12वीं का सबसे कठिन विषय माना जाता है। अगर आप गणित के पेपर के लिए पूरी और सही तैयारी करेंगे तो ये कई प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में भी आपके काम आएगी। आइए जानते हैं कि गणित के पेपर की तैयारी कैसे करें


एनसीआरटीई की किताब का पूरा अभ्यास करें
गणित की परीक्षा की तैयारी करने के लिए एनसीईआरटीई की गणित की पार्ट 1 और पार्ट 2 किताब का अभ्यास करना बेहद जरूरी है। बोर्ड एक्जाम में आने वाले पेपर के लिए एनसीआरटीई की किताब सबसे अच्छी क्योंकि इससे सभी टॉपिक को बेहतर और आसान तरीके से समझा जा सकता है। एनसीआरटीई की किताब का पूरा अभ्यास करने के बाद परीक्षार्थी चाहें तो आर एस अग्रवाल या आरडी शर्मा से भी अभ्यास कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि ज्यादा किताबों का इस्तेमाल करने से कंफ्यूजन हो सकता है इसलिए किताबों की संख्या सीमित रखें।
सभी चैप्टर को बराबर अहमियत दें
परीक्षा में गणित के विभिन्न चैप्टरों की वेटेज अलग-अलग होती है। पहली बार पढ़ते समय सभी चैप्टरों को समान अहमियत दें। सबसे पहले सभी चैप्टरों के कॉन्सेप्ट को समझने की कोशिश करें। एक चैप्टर पूरा पढ़ने के बाद उससे संबंधित सभी प्रश्नों का अभ्यास करें। दूसरी किताबों में उस चैप्टर से संबंधित प्रश्नों का भी अभ्यास करें। एक चैप्टर का अभ्यास पूरा करने के बाद ही दूसरे चैप्टर को पढ़ने की शुरुआत करें। जब सभी चैप्टर पूरे हो जाएं तब पिछले साल के सीबीएसई के प्रश्नपत्रों का अभ्यास करें।

आगे पढ़ें पुराने प्रश्नपत्रों का अभ्यास करें

परीक्षा से ठीक पहले सीबीएसई के पुराने प्रश्नपत्रों का अभ्यास करने से पढ़ी हुई चीजें देर तक जहन में रहती है। पुराने प्रश्नपत्रों के सेट हल करने से न सिर्फ विभिन्न चैप्टरों के मार्क्स वेटेज का पता चलता है बल्कि विभिन्न चैप्टरों से पूछे जाने वाले सवाल का पैटर्न भी पता चलता है। सीबीएसई के प्रश्नपत्रों के पैटर्न में ज्यादा बदलाव नहीं होता।
कैलकुलस पर ज्यादा ध्यान दें
एक बार सारे चैप्टरों का पूरा अभ्यास करने के बाद कैलकुलस पर ज्यादा ध्यान दें क्योंकि प्रश्नपत्र में कैलकुलस का मार्क्स वेटेज ज्यादा होता है। इसके साथ ही प्रोबैबलिटी चैप्टर का भी गहन अध्ययन करें क्योंकि ये ज्यादा वेटेज वाले टॉपिक हैं। अगर आप सैंपल पेपर हल करेंगे तो पाएंगे कि हर साल प्रोबैबलिटी के प्रश्नों का पैटर्न एक जैसा ही होता है। सीबीएसई बोर्ड सैंपल पेपर हल करने का अभ्यास करने से परीक्षा में टाइम मैनेजमेंट करने में भी आसानी होती है।
विस्तार से प्रश्नों का जवाब दें
परीक्षा में प्रश्न पत्र हल करते समय अपने सभी जवाब विस्तारपूर्वक दें। इससे परीक्षक को पेपर चेक करने में आसानी होती है। प्रूफ वाले सवाल हल करते समय हर प्वाइंट और स्टेप को विस्तार से लिखें। बीच के स्टेप न भूलें क्योंकि इससे मार्क्स कट सकते हैं। हर एक स्टेप लिखना बेहद जरूरी है।

आगे पढ़ें टॉपिक के अनुसार मार्क्स वेटेज

रीलेशन एंड फंक्शन – 10 %
ऐलजेबरा – 13 %
कैलकुलस – 44%
वेकटर्स एंड थ्री डाइमेंशनल ज्योमेट्री – 17 %
लीनियर प्रोग्रामिंग – 06 %
प्रोबैबलिटी – 10%

Post Author: thesundayviews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *