बिल गेट्स की प्रेरणादायी जीवन कथा – कैसे बने वो दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति

दोस्तों आज हम आपको दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति के जीवन से परिचित कराने जा रहे है। जो कि एक Microsoft के चेयरमैन हैं, अब तक तो आप लोग समझ ही गए होगे कि हम किस शख्स के बारे में बात कर रहे है। जी हां, हम बात कर रहे है बिल गेट्स की। आज दुनिया में कुछ ही लोग होंगे जो बिल गेट्स को नहीं जानते। आज Microsoft Company दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनियों में से एक है।

आखिर कैसे हुई उनकी लाइफ की शुरुआत…

बिल गेट्स का पूरा नाम William Henry Gates III है।  बिल गेट्स का जन्म 28 अक्तूबर 1955 को वाशिंगटन में हुआ था । वे एक अमेरिकी बिजनिस मैन तथा कम्प्यूटर प्रोग्रामर हैं। उनका जन्म वाशिंगटन के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ, बिल गेट्स के पिता का नाम विलियम H. गेट्स तथा माँ का नाम मेरी मैक्सवैल था। उनके पिताजी एक जाने माने वकील थे तथा बिल गेट्स की माँ First Interstate B a n c System and United Way के Board of Directors की सदस्य थीं।उनके माता-पिता चाहते थे की बिल गेट्स वकील बने। लेकिन उन्होंने computer में BASIC Programming Language में काफी रूचि दिखाई। बिल गेट्स computer से काफी impressed थे। 17 वर्ष की उम्र में उन्होने ऐलैन के साथ Intel 8008 पर आधारित एक traffic counter बनाया जिसे T r a f-o-Data का नाम दिया गया था।
मई 2014 तक वे Microsoft कंपनी के सबसे बड़ें व्यक्तिगत शेयर होल्डर रहे। बिल गेट्स ने कई किताबें भी लिखी थी जैसे Business @ the Speed of Thought बाद में उन्होने कई पुण्य के कार्य भी किए और उन्होने कई charitable trusts तथा वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए धन दान किया। जून 2006 में उन्होने यह घोषणा कर दी कि वे अब Microsoft कंपनी में part time काम करेंगे तथा अपना पूरा समय Bill and Melinda Gates Foundation को ही देंगे।

उन्होंने अपने टीचर से कहा था की वो 30 साल उम्र में करोडपति बनकर दिखाएगे और 31 साल की उम्र में वह अरबपति बन गये। 16 साल तक अरबपतियों की लिस्ट में नंबर वन रह चुके बिल गेट्स ने अपनी कामयाबी के कुछ सूत्र बताए हैं। इनको अपनाकर आप भी बहुत जल्द बुलंदियों को छू सकते है।

दुनिया बदलो या घर पर बैठ जाओ:
क्या आपके दिल में कुछ करने की तमन्ना है? क्या आपके पास कोई मकसद, कोई रीजन, कोई आइडिया? ऐसा कोई लक्ष्य नहीं है, तो आप घर पर ही बैठिए और अगर आपका जवाब हाँ में है तो, अपने काम में जुट जाइए।
रास्ते खुद अपने आप बनाओ:
आज जो भी रास्तें हमारे सामने हैं, वो हमेशा से नहीं थे। किसी ने तो उन्हें बनाया ही है। नये रस्ते बनाने की कोशिश पर हो सकता की लोग आपको पागल कहें, कई बार आपके कदम डगमगाएगे पर आप डरे नहीं। बिल गेट्स का मानना रहा था कि Personal Computer हर टेबल, हर घर और हर लिविंग रुम में होना जरूरी है। यह हमारे काम के तरीकों को बदल देता है।
उसूलों पर हमेशा डट कर रहे:
कभी भी अपने लक्ष्य से न हटें। वह किसी भी काम को जज्बे के साथ करते थे। उन्हें पता था की कौनसा काम कितना अहम है और उस काम से कितना मुनाफा हो सकता है। टेक्नोलॉजी कि मदद से वे लोगों के जीवन को आसान और बेहतर बनाना चाहते थें।

हमेशा आगे कि सोच कर चले

दुनियां तेज़ी से बदलती जा रही है। अगर जो व्यक्ति आगे कि सोचकर नहीं चलेगा तो पिछड़ जायेगा। बिल गेट्स का मानना है कि जितने भी लोग है सभी समान हैं। मदद उनकी की जानी चाहिए, जो खुद की मदद नहीं कर सकते हैं। सभी को अपने तरीके से जीवन जीने का हक़ है।
सिस्टम को बनाएं
कोई भी काम करने के लिए सिस्टम बहुत ही जरूरी है जिससे कि सारे काम आसानी से हो जाये।
समस्याओं को एक-एक करके हल करें
किसी भी समस्या को दूर करने के लिए उस पर बारीकी से समझना जरूरी है। हो सकता है कि वह समस्या जल्दी से दूर न हो सके, ऐसे में उसे टुकड़ों में हल किया जा सकता है। इस तरीके से बड़ी से बड़ी समस्या भी सॉल्व हो जाती है।

Post Author: Sanjay Srivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *