कागजों का ऐसा ‘खिलाड़ी’ जिसने बनाए 21 वर्ल्ड रिकॉर्ड

वो कागज की कला की दुनिया या यूं कहें पेपर आर्ट के ऐसे बेहतरीन ‘खिलाड़ी’ हैं जिन्होंने अपने शौक और जूनून के लिए बना डाले 21 वर्ल्ड रिकॉर्ड। तस्वीरों में दे‌खिए अब तक के उनके वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की कहानी।यह कारनामा कर दिखाया है अमृतसर के झब्बाल रोड निवासी गुरप्रीत सिंह ने। उनके नाम 21 विश्व रिकार्ड हैं। इनमें भी 14 व‌र्ल्ड रिकार्ड यूनीक व‌र्ल्ड में दर्ज है। गुरप्रीत सिंह ने बताया कि वो कागज की कला की दुनिया से बीते 15 साल से जुड़े हुए हैं। 15 वर्ष पहले उन्हें पेपर आर्ट के जरिये कलाकृति बनाने का शौक लगा। धीरे-धीरे यह शौक जुनून बन चुका है।

गुरप्रीत ने बताया इसी जूनून के चलते उन्होंने कई अजूबे कागज के बूते तैयार किए हैं। उन्होंने बताया कि हाल ही में यूनिक वर्ल्ड रिकार्ड की ओर से उनके 7 अन्य नए रिकार्ड दर्ज किए गए हैं। वे अब तक विश्व के 7 बहुचर्चित अजूबों को पेपर आर्ट के जरिये लोगों के सामने ला चुके हैं।गुरप्रीत ने कागज से अब तक विश्व प्रसिद्ध ताजमहल, अमेरिकी राष्ट्रपति का आशियाना व्हाइट हाऊस, एफिल टावर, चीन की दीवार, लंदन ब्रिज, दुनिया की सबसे बड़ी 5 फुट की और सबसे छोटी एक इंच की पगड़ी, हरिमंदिर साहिब, पंजा साहिब, ननकाना साहिब, मुस्लिम तीर्थ मक्का मदीना के अलावा 200 से अधिक विश्व प्रसिद्ध अजूबों के और अन्य चर्चित जगहों के मॉडल तैयार किए हैं।

इन सबके अलावा पेपर आर्टिस्ट गुरप्रीत सिंह ने दुनिया के सबसे बड़े ढोल, सबसे बड़ा 8 फुट की राखी, समेत सिख और अन्य धर्मों से जुड़े तीर्थ स्थलों को कागजों के ‌जरिए उकेर कर दुनिया के सामने ला चुके हैं।गुरप्रीत के नाम पेपर आर्ट में 7 नेशनल रिकार्ड  दर्ज है। उन्होंने बताया कि सबसे छोटी एक इंच की पगड़ी के लिए वर्ष 2012 में दिल्ली में टॉप 120 टैलेंट ऑफ इंडिया का अवार्ड मिल चुका है।अब इसी शौक और जुनून के चलते गुरमीत ने दैत्याका जूता बनाया है। कागज और रबर के मिश्रण से बनाया गया यह जूता 10 फुट ऊंचा और 7 फुट है।इस स्पेशल जूते का वजन 18 किलो है। कई वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करने वाले गुरप्रीत वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का अपना ये सफर जूते के ज‌रिए जारी रखना चाहते हैं।

Post Author: Sanjay Srivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *